This is a paragraph (p)

Main kadam rakh chuka hu.khel ka rukh badal chuka hai.Saanp sidhi ke khel me..Newla utar chuka hai…

मैं कदम रख चुका हूँ.खेल का रुख बदल चूका है.साँप सीढ़ी के खेल में…नेवला उतर चुका है

This is a paragraph (p)

Main hameshajung talne ki koshish karta hu..Lekin Jung hue….To jeetunga to main hi….


मैं हमेशाजंग टालने की कोशिश करता हूँ…लेकिन जंग हुए….तो जीतूँगा तो मैं ही….

This is a paragraph (p)

kuch log gulam banke hi sahiSau saal jeena chahte hai…Lekin kuch log ek din bhi Jeeyeto sultan ki tarah jeena chahte hai…

कुछ लोग गुलाम बनके ही सहीसौ साल जीना चाहते है…लेकिन कुछ लोग एक दिन भी जियेतो सुल्तान की तरह जीना चाहते है…

This is a paragraph (p)

khoon se likhi hui kahani hai.syahi se nahi badhegi.Agar aage badhana hai…to fir se khoon hi mangegi..


खून से लिखी हुई कहानी है.स्याही से नहीं बढ़ेगी.अगर आगे बढ़ाना है…तो फिर से खून ही मांगेगी..

This is a paragraph (p)

Don’t Worry…you are in safe hands.Jagah ke liye Naya hu…Field me nahi….

Don’t Worry…you are in safe hands.जगह के लिए नया हूँ… Field में नहीं….

This is a paragraph (p)

maa ek din duniya ka sara sonatumhe lakar dunga… Maa.Achchha thik hai. Abhi tu so jaaKal subh jakar le aana.

माँ…एक दिन दुनिया का सारा सोना तुम्हे लाकर दूंगा… माँ.अच्छा ठीक है. अभी तू सो जाकल सुबह जाकर ले आना.

This is a paragraph (p)

Aapke liyeOf the people, for the people, By the peopleMere liye…. BUY The people.

आपके लिए…
Of the people, for the people, By the peopleमेरे लिए… BUY The people.

This is a paragraph (p)

itihaas aur purane kahte hai.Aurat krodhit ho to haath nhi uthate hai.Sringaar karke, Tilak lagake, puja karke…Haath jodte hai…

इतिहास और पुराणे कहते है.औरत क्रोधित हो तो हाथ नही उठाते है.श्रृंगार करके, तिलक लगाके, पूजा करके…हाथ जोड़ते है….

This is a paragraph (p)

Falak ka dasturkhuda ka hukum Aur ek maa ki dua hai…ki haatho ki lakiro ko bhi rukhasat karrokane se bhi nhi rukegi…Tumahari ye saltanat…

फलक का दस्तूरखुदा का हुकुम और एक माँ की दुआ है…कि हाथों की लकीरों को भी रूखसत कररोकने से भी नहीं रुकेगी… तुम्हारी ये सल्तनत…